Home – कुंडलिनी मंत्र साधना

Kundalini Mantra

  • कुंडलिनी जागरण
    कुंडलिनी जागरण कुंडलीनी Kundalini के चक्र : कुडलिनी शक्ति समस्त ब्रह्मांड में परिव्याप्त सार्वभौमिक शिव शक्ति है जो प्रसुप्तावस्था में प्रत्येक जीव में विद्यमान रहती है। इसको प्रतीक रूप से साढ़े तीन कुंडल लगाए सर्प जो मूलाधार चक्र में सो रही है के माध्यम से अभिव्यक्त किया […]
  • कुंडलिनी षट्चक्र जागरण मंत्र साधना
    Kundalini Chakra Awakening Mantra षट्चक्र उतिष्ट मंत्र साधना के सफल होने पक,कुंडलिनी जाग्रत हो कर सभी तत्वों को भेदती हुई सहस्रार चक्र की तरफ चल पड़ती है। आकर्षक तीव्र सम्मोहन युक्त देह में से सुगन्ध आने लगती है। समुर्ण शास्त्रों का ज्ञान शिव जी द्घारा प्राप्त होने […]
  • आत्म कुंडलिनी मंत्र साधना
    Atma Kundalini आत्म कुंडलिनी जिसके जागरण से पूरा भविष्य साकार होने लगता है।व्यक्ति तब त्तक अपने जीवन में अधूरा ही है ,जब त्तक कि उसकी आत्म कुंडलिनी जाग्रत नहीं हो जाती।कुंडलीनी से भी आगे बढते आगे का उच्च स्तर आत्म कुंडलिनी का जाता है, जिसके विषय में […]
  • कुंडलिनी मंत्र जागरण विनियोग
    कुंडलिनी जागरण मंत्र विनियोग ध्यान कुंडलीनी Kundalini के चक्र : कुडलिनी शक्ति समस्त ब्रह्मांड में परिव्याप्त सार्वभौमिक शिव शक्ति है जो प्रसुप्तावस्था में प्रत्येक जीव में विद्यमान रहती है। इसको प्रतीक रूप से साढ़े तीन कुंडल लगाए सर्प जो मूलाधार चक्र में सो रही है के माध्यम […]
  • कुंडलिनी तंत्र साधना विनियोग
    मूल कुण्डलिनी मंत्र साधना विनियोग 1)- विनियोग ॐ अस्य सर्व सिद्धिद-श्री कुण्डलिनी-महा-मंत्रस्य भगवान महकालो ऋषिः, विश्व-व्यापिनी महा-शक्ति-श्री कुण्डलिनी देवता, त्रिष्टुप छन्दः, माया(ह्रीं) बीजं, सिद्धिः शक्तिः प्रणव(ॐ) कीलकं, चतुर्वर्ग-प्राप्तये जपे विनियोगः । किसी साफ प्लेट में कुंडलिनी जागरण मंत्र सिद्ध यंत्र स्थापित करें, यंत्र की विधिपूर्वक पुजा कर […]
  • कुंडलिनी हवन यज्ञ
    कुंडलिनी हवन यज्ञ कुण्डलिनी यज्ञ का विशेष वर्णन करते हुए मुण्डकोपनिषद के २/१/८ संदर्भ में कहा गया है- ”सत्तप्राणी उसी से उत्पन्न हुए । अग्नि की सात ज्वालाएँ उसी से प्रकट हुईं । यही सप्त समिधाएँ हैं, यही सात हवि हैं । इनकी ऊर्जा उन सात लोकों […]
  • कुंडलिनी तर्पण मार्जन
    कुंडलिनी तर्पण मार्जन
  • कुण्डलिनी चालीसा
    श्री कुण्डलिनी चालीसा सिर सहस्त्रदल कौ कमल , अमल सुधाकर ज्योति | ताकि कनिका मध्य में , सिंहासन छवि होति || शांत भाव आनंदमय , सम चित विगत विकार | शशि रवि अगिन त्रिनेत्रयुत , पावन सुरसरिधार || सोहे अंक बिलासनी, अरुण बरन सौ रूप | दक्षिण […]
  • कुंडलिनी कवचम्
    Kundalini Kavach रूद्रयामल में कुण्डलिनी-साधकों के लिये एक ‘उदघाटन-कवच’ दिया गया है जिसका श्रद्धा-पूर्वक पाठ करना साधकों के लिये अत्यन्त लाभप्रद माना गया है- ॥ उदघाटन-कवच ॥ मूलाधारे स्थिता देवि, त्रिपुरा चक्र नायिका । नृजन्म भीति-नाशार्थं, सावधाना सदाऽस्तु ॥1॥ स्वाधिष्ठानाख्य चक्रस्था, देवी श्रीत्रिपुरेशिनी । पशु बुद्धिं नाशयित्वा, […]
  • कुंडलिनी चक्र पूजा हवन
    Kundalini Online Puja Hawan कुंडलिनी ही हमारे शरीर, भाव और विचार को प्रभावित करती है।चक्रों के नाम :मूलत: सात चक्र होते हैं:- 1- मूलाधार, 2- स्वाधीष्ठान, 3- मनीपूर, 4- अनाहता, 5- विशुद्धि, 6- आज्ञा चक्र 7- सहस्रार 8- बिन्दु
  • शिव घर्म
    कुंडलिनी ही हमारे शरीर, भाव और विचार को प्रभावित करती है। चक्रों के नाम : मूलत: सात चक्र होते हैं:- 1- मूलाधार, 2- स्वाधीष्ठान, 3- मनीपूर, 4- अनाहता, 5- विशुद्धि, 6- आज्ञा चक्र साधना 7- सहस्रार 8- बिन्दु Das Maha Vidhaya 10 Great goddess of universe. महाकाली […]

कुंडलिनी जागरण मंत्र साधना हवन

कुंडलिनी व चक्र मंत्र साधना
No. Name Discription
1- कुंडलिनी मंत्र साधना कुंडलिनी मंत्र
2 – मूलाधार चक्र साधना मूलाधार मंत्र
3 – स्वाधिस्ठाना स्वाधीस्ठान
4 – मणिपुर चक्र मंत्र साधना
5 – अनाहत चक्र मंत्र साधना
6 – विशुद्धि चक्र मंत्र साधना
7 – आज्ञा चक्र मंत्र साधना
8 – सहस्रार चक्र मंत्र साधना
9 – बिन्दू चक्र मंत्र साधना
10- ललना चक्र मंत्र साधना

Baglamukhi Hawan Service

Baglamukhi Online Service

No. Name Descriptions
1- Technical Medical Student Boost Energy Hawan बगलामुखी ,सरस्वती, हवन यज्ञ सर्विस
2- Hawan Therapy Cure All Disease सभी बीमारियों का इलाज हवन यज्ञ
3- भूत प्रेत दाडा व प्रत्येक बीमारी का इलाज हवन यज्ञ सर्विस
4- नवग्रह शान्ति हवन मंदिर में आनलाइन हवन यज्ञ सर्विस
5- Navgraha Shanti Puja Hawan Hawan online Service temple
6- Bollywood Actors Dancers boost energy Hawan Service
7- Kundalini Hawan Service Kundalini Chakra Awakening Hawan Online

Kundalini Mantra Workshop

कुंडलिनी मंत्र साधना हवन यज्ञ

Welcome!